Aug 6, 2007

गहरेबाजी शुरू, देखने वालों का लगा तांता

इलाहाबाद में सावन का महीना शुरू होते ही हर सोमवार को शुरू हो जाता है घोड़ों के चाल का हुनर। जिसमें शहर के नामचीन घोड़े अपने जौहर का प्रर्दशन महात्मा गांधी मार्ग पर करतें है।
सावन के चार सोमवार को शहर के एमजी मार्ग पर सायं पांच बजे से शहर के घोड़ो के शौ‍कीन अपने तांगे के साथ घोड़े के चाल और दौड़ का प्रदर्शन करने के लिए आतें है। इसी क्रम में सावन के पहले सोमवार को महात्मा गांधी मार्ग पर घोड़ों की दौड़ चाल देखने के लिए पहले से ही लोगो की काफी भीड़ इकट्ठा हो गयी थी। जैसे ही यह घोड़े अपने मालिक और तांगे के साथ तेज रफ्तार के साथ आये दर्शकों ने आवाज लगाकर उनका उत्साह बढ़ाया।


गहरे बाजी में मजरे आलम कटरा, गोपाल पंडा अहियापुर, फारूख कसाई नैनी लखन लाल ऐलनगंज ने अपने घोड़ो की चाल दिखाई। जिसमें सभी ने एक दूसरे को पछाउ़ते नजर आये। अशोक कुमार चौरसिया का टैटू और कई टैटू भी आकर्षण का केन्द्र रहे। जिसने छोटे होने के बावजूद काफी तेज गति से दौड़ लगा रहे थे। इनको देखने के लिए शास्त्री चौराहे से सीएमपी कालेज तक सड़क की दोनों पटरियों पर देखने वालों का तांता लगा रहा। तांगे के मोटर साइकिल सवार भी घोड़े को जोश देते रहें।

5 comments:

संजय तिवारी said...

फोटू नहीं मिल पायी क्या?

परमजीत बाली said...

जानकारी अच्छी है लेकिन अगर चित्र भी साथ होते तो अच्चा होता। जानकारी के लिए धन्यवाद।

Udan Tashtari said...

एक चित्र की दरकार है, भाई!!

mahashakti said...

बहुत अच्‍छा मित्र, तुम्‍हारा साथ पाकर अच्‍छा लगा हर दिन पोस्‍ट हो रही है।

बधाई।

संजय भाई, परमजीत जी व समीर लाल जी अभी उनके पास कैमरे की व्‍यवस्‍था नही है। मै चित्र की व्‍यवस्‍था करने की कोशिस करता हूँ।

Sanjeet Tripathi said...

बढ़िया पर वाकई तस्वीरों की कमी खली!